Monday, July 22, 2024
Latest:
राज्यसहकारिता

189 सहकारी सोसाइटियों में कस्टम हायरिंग सेंटर स्वीकृत, यहां पढिय़े स्वीकृत केंद्रों की पूरी सूची

जयपुर, 4 मार्च (मुखपत्र)। भाजपा सरकार ने कांग्रेस राज में 726 ग्राम सेवा सहकारी समितियों (पैक्स, लैम्पस) और क्रय विक्रय सहकारी समितियों (केवीएसएस) के लिए स्वीकृत कस्टम हायरिंग सेंटर (कृषि यंत्रिकरण केंद्र) की प्रशासनिक स्वीकृति निरस्त करने के बाद, अब नये सिरे से सहकारी सोसाइटियों (PACS AND KVSS) को कस्टम हायरिंग सेंटर स्वीकृत करने आरम्भ कर दिये हैं। पहली सूची में 189 सहकारी सोसाइटीज में कृषि यंत्रीकरण केंद्र स्थापित करने की स्वीकृति जारी की गयी है। प्रशासनिक स्वीकृति के आधार पर सहकारिता रजिस्ट्रार श्रीमती अर्चना सिंह द्वारा उन 189 सहकारी समितियों की सूची जारी कर दी गयी है, जिनमें कृषि यंत्रीकरण केंद्र स्थापित किये जाने हैं।

189 केंद्रों की सूची

जिला बारां : मझारी, सकतपुर, सेतकोलू, फूलबडौदा, गोडिया चारण, मिसाई, छीनोद, जलवाडा, छत्रगंज, सुवास और कवाई।
जिला झुंझुनूं : कसैरू, भगौरा, बसावा, पाबाना, बुगाला, सौथंली, मेहाडा जाटुवास, रवा, हरडिया, श्यामपुरा, नानूवाली बावड़ी और काकरिया।
जिला जोधपुर : उम्मेदनगर, रोहिचाकलां, सालावास, नन्दवान, बैंगटीकलां,
जाम्बा, खिदरत, आगोलाई और डेरिया।
जिला कोटा : रामगंजमण्डी केवीएसएस, हाथियाखेड़ी, गायत्री, लबानिया और विनोदखुर्द।
जिला सिरोही : भूतेश्वर, गोल, अजारी, झाडोली, नितौड़ा, भांवरी और किवरली।
जिला श्रीगंगानगर : रामपुरान्यौला, रतनपुरा, बख्तावरपुरा, हरदासवाली, घमण्डिया, मनियावाली, मनफूलसिहवाला, चौधरी चेतरामवाला, डूंगरसिंहपुरा, पनियावाली, मम्मडख़ेड़ा, 3 वाई 3 जैड और कोठा।
जिला झालावाड़ : जूनाखेड़ा, कीटिया, नहरघट्टा, भैसानी, जनता कनवाडा,
रुण्डलाव और सरेड़ी।
जिला भरतपुर : उडक़ीदल्ला, अभोर्रा, नगला लखन, बनी, देवीदरवाजा,
नौगावां, खेस्ती, सैमलाकलां, मूढौती, मांझी, नयावास, नाम, सरसैना, हलैना, धरसौनी, खान सुरजापुर और इब्राहिमपुर।
जिला सीकर : पृथ्वीपुरा, जुगराजपुरा, कोटड़ी सिमारला, कंचनपुरा और हथौरा।
जिला टोंक : मलूका नगर खेडा, सीतारामपुरा, सोड़ा, दतवास और सिरोह।ी
जिला उदयपुर : देवगांव, वीरपुरा, सिंघटवाड़ा, आमीवाड़ा, नवानिया, मोलेला, रामपुरा, सेमा, सेमल, घोडच, पीपली डोडीयान, चराण, रेलमगरा, आमेट, साकरड़ा और गोवल।
जिला बाड़मेर : कोलियाना, उड़ासर, दुधू, मेहलू मालपुरा, खारवा, चांदेसरा, होडू, राजडाल, कोटड़ा, गागरिया, भाचभर, उपरला, धनाऊ और फागलिया।
जिला अलवर : मथुराहेड़ा, बास बेरीसाल, कोलाहेड़ा, अजबपुरा, भिण्डूसी शाहबाद, पलासली और इशरोदा।
जिला डूंगरपुर : डेचा और अम्बाड़ा।
जिला जालोर : निम्बला और रायथल।
जिला अजमेर : जोताया।
जिला हनुमानगढ़ : भानगढ़, डोभी और मलखेड़ा।
जिला करौली : धोरेटा।
जिला बांसवाड़ा : ओडवाड़ा, सरेड़ी बड़ी और सरपुर।
जिला दौसा : पीलोड़ी, मरियाड़ा, पॉचोली, बिलौना कलां, अनन्तवाड़ा, नन्देरा, गुढ़ाकटला, श्यामसिंह और रलावता।
जिला बीकानेर : गडिय़ाला।
जिला भीलवाड़ा : आगुचा, बड़ला, बराठिया, खेमाणा, झाड़ौल, मौखुन्दा, नाथडिय़ास, थला, बोरियापुरा, गणेशपुरा, काछोला, जस्सू जी का खेड़ा, जालिन्द्री, सरथला, सुराज, माण्डलगढ़, डोडवानिया का खेड़ा, कासोरिया, जसवतंपुरा, बल्दरखा, लाम्बिया खुर्द, घरटा, चमनपुरा, महुआ खुर्द, आमलीगढ़, भौली, पीपली, अमरगढ़, घोड़ास, धुवाला, सिडियास, उमरी, पण्डेर और सरसिया।
जिला पाली : मुसालिया और बालेलाव।
जिला जैसलमेर : पोकरण केवीएसएस।

किसानों को किराये पर मिलते हैं कृषि यंत्र

ग्राम सेवा सहकारी समितियों में स्थापित कस्टम हायरिंग सेंटर (कृषि यंत्रीकरण केंद्र) पर किसानों को बाजार की अपेक्षाकृत कम किराये पर ट्रैक्टर के साथ-साथ आधुनिक एवं परम्परागत कृषि यंत्र मिलते हैं। इनमें ट्रैक्टर, थ्रेसर, रोटावेटर, रीपर, सीड ड्रिल सहित अन्य कृषि उपकरण शामिल हैं।

 

 

error: Content is protected !!