Monday, July 22, 2024
Latest:
राज्यसहकारिता

सहकारी बैंक 1.50 लाख ग्रामीण परिवारों को 3000 करोड़ रुपये का ब्याज मुक्त ऋण वितरण करेंगे

सहकारिता मंत्री उदय लाल आंजना ने ऋण आवेदन पोर्टल का लोकार्पण किया

जयपुर, 17 अप्रेल (मुखपत्र)। राजस्थान ग्रामीण परिवार आजीविका योजना के तहत 1.50 लाख परिवारों को अकृषि कार्यों के लिए सहकारी बैंकों के माध्यम से 3000 करोड़ रुपये का ब्याज मुक्तऋण दिया जाएगा। पात्र आवेदक को 25 हजार रुपये से 2 लाख रुपये तक का ब्याज मुक्तऋण दिया जायेगा। प्रदेश में इस योजना के तहत ऋण वितरण की जिम्मेदारी केन्द्रीय सहकारी बैंकों को सौंपी गयी है। राज्य में केंद्रीय सहकारी बैंक ही ब्याजमुक्त अल्पकालीन फसली ऋण का वितरण कर रहे हैं।

सहकारिता मंत्री उदय लाल आंजना ने सोमवार को सहकार भवन में राजस्थान सहकारी ग्रामीण परिवार आजीविका योजना के लिए सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा तैयार किए गए ऋण आवेदन पोर्टल का लोकार्पण किया। राज्य सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के वंचित लोगों के लिए बजट में इस योजना की घोषणा की गयी थी।

उन्होंने कहा कि इस योजना में राजस्थान सहकारी डेयरी संघ (आरसीडीएफ) को भी जोड़ा गया है, इससे डेयरी क्षेत्र में पशुधन एवं दुग्ध उत्पादन के कार्य कर रहे पशुपालकों को लाभ मिलेगा। हस्तशिल्प, लघु उद्योग, कताई-बुनाई, रंगाई-छपाई एवं दुकान आदि के साथ-साथ पशुपालन, मछली पालन आदि गतिविधियों हेतु भी प्रति परिवार एक सदस्य को ऋण दिया जायेगा।


न ब्याज, न प्रोसेसिंग फीस

सहकारिता विभाग की प्रमुख शासन सचिव श्रीमती श्रेया गुहा ने कहा कि यह योजना अकृषि कार्यों की आजीविका पर निर्भर परिवारों की बेहतरी के लिए है। इस योजना से राजीविका से जुड़े समूहों को विशेष रूप से लाभ होगा। ऋण की सम्पूर्ण प्रक्रिया पारदर्शी है। उन्होंने कहा कि ऋण का समय पर चुकारा/नवीनीकरण कराने वाले लाभार्थी से कोई ब्याज वसूल नहीं किया जायेगा। सहकारी बैंकों द्वारा इस ऋण हेतु कोई प्रोसेसिंग फीस भी वसूल नहीं की जायेगी।

पांच साल से ग्रामीण निवास जरूरी

सहकारिता रजिस्ट्रार मेघराज सिंह रतनू ने कहा कि पांच साल से ग्रामीण क्षेत्र में निवास करने वाले लोग आवेदन कर सकेंगे। पाँच वर्ष से ग्रामीण क्षेत्र में रहने के प्रमाण स्वरूप किसान क्रेडिट कार्ड की प्रति, भूमि के दस्तावेज की आवश्यकता होगी। आवेदक के पास जनाधार कार्ड आवश्यक रूप से होना चाहिए। उन्होंने बताया कि इस योजना के लिए बैंकों को 150 करोड़ रुपये का ब्याज अनुदान भी देगी। इस मौके पर अपेक्स बैंक की ऋण योजनाओं पर पुस्तिका का विमोचन किया गया।

ये अधिकारी रहे उपस्थित

इस अवसर पर आरसीडीएफ की एमडी सुषमा अरोड़ा, राजफैड की एमडी उर्मिला राजोरिया, राजीविका की चीफ ऑपरेटिव मैनेजर सौम्या झा, सहकारिता विभाग के अधिकारी – राजीव लोचन शर्मा, शिल्पी पांडे, विजय शर्मा, भोमाराम, बृजेन्द्र राजोरिया, दिनेश शर्मा आदि उपस्थित रहे। केन्द्रीय सहकारी बैंकों, डेयरी एवं राजीविका के अधिकारी वीसी के माध्यम से जुड़े रहे।

error: Content is protected !!