Monday, July 22, 2024
Latest:
राज्यसहकारिता

गलत ऋण वितरण के कारण भूमि विकास बैंकों की वित्तीय स्थिति खराब हुई, जिम्मेदारी तय की जाएगी – गौतम कुमार

जयपुर, 6 फरवरी (मुखपत्र)। सहकारिता राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) गौतम कुमार दक ने कहा कि गलत ऋण वितरण एवं अनियमित ऋण वसूली के कारण प्राथमिक सहकारी भूमि विकास बैंकों (पीएलडीबी) की वित्तीय स्थिति खराब हुई है। उन्होंने कहा कि जिन भूमि विकास बैंकों की वित्तीय हालत अनियमित ऋण वितरण के कारण खराब है, ऐसे अधिकारियों एवं कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

वे मंगलवार को अपेक्स बैंक में प्राथमिक सहकारी भूमि विकास बैंकों की समीक्षा बैठक में बैंक सचिवों/अधिकारियों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नियमित रूप से मॉनिटरिंग कर फील्ड स्तर पर जाकर ऋण की वसूली करें। अधिकारी एवं कर्मचारी व्यक्तिगत प्रयासों के द्वारा ऋण वसूली कर बैंक की वित्तीय स्थिति में सुधार करें एवं बैंकर्स की तरह कार्य करें। ऋण स्वीकृत करते समय आवेदक के सिबिल स्कोर को ध्यान में रखें। सहकारिता मंत्री ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि दलाल या एजेंट के माध्यम से ऋण वितरण की शिकायत आने पर सम्बंधित के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। एजेंट या दलाल गलत ऋण वितरण को बढ़ावा देते हैं।

अधिकारियों की एसीआर में उनकी परर्फोमेंस नोट की जाएगी

शासन सचिव (सहकारिता) श्रीमती शुचि त्यागी ने कहा कि बैंकिंग सिस्टम में सुधार करते हुए लीकेज की व्यवस्था को समाप्त करें। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारियों की एसीआर में उनकी परर्फोमेंस नोट की जाएगी।

ऋण वसूली के लिए लाइव लोकेशन को टेग किया जाये

सहकारिता रजिस्ट्रार श्रीमती अर्चना सिंह ने कहा कि ऋण वसूली के लिए लाइव लोकेशन को टेग करते हुए मॉनिटरिंग प्रक्रिया को अपनाएं। ऋणियों में ऋण चुकाने की मानसिकता पैदा करें। बैठक में राज्य सहकारी भूमि विकास बैंक लिमिटेड के प्रबंध निदेशक विजय शर्मा ने बिन्दुवार एंजेडा रखा। इस अवसर पर एसएलडीबी के अधिकारी, प्राथमिक सहकारी भूमि विकास बैंकों के सचिव सहित सम्बंधित अधिकारी उपस्थित थे।

error: Content is protected !!